KYC full form & Meaning in Hindi

Mohammad Ali
0

KYC full form in Hindi - ( जाने KYC का फुल फॉर्म क्या होता है )

KYC FULL FORM : आज हम लोग जानेंगे कि केवाईसी का मतलब क्या होता है । KYC का मतलब क्या होता है, KYC का इस्तेमाल किन-किन जगहों पर किया जाता है और KYC क्यों जरूरी है ।

KYC Full Form जानने से पहले मैं आपको बता दू कि KYC क्या होती है । KYC एक सुविधा है, जिसके द्वारा किसी कंपनी को पता लगता है कि कौन सा कस्टमर उनके साथ जुड़ रहा है । यह KYC हमारे डॉक्यूमेंट के द्वारा की जाती है । जिसकी मदद से वह पहचान पाते हैं, कि कौन सा शख्स उनकी सुविधा का इस्तेमाल कर रहा है ।

KYC एक तरह का चलन हो चुका है जो हर जगह इस्तेमाल किया जाता है । आजकल बैंकिंग कामों के लिए KYC फार्म जमा कराने के लिए कहा जाता है । सिर्फ बैंक ही नहीं और भी बहुत से पेमेंट सिस्टम है जो कि KYC करने के लिए कहते हैं ।

जैसे कि Paytm, PhonePE, Amazon Pay साथ ही इंडिया की बहुत सारी apps और बहुत सारे बाहरी country के apps में KYC के लिए कहा जाता है और यह कराना भी बहुत जरूरी हो चुका है यदि हम ऐसा नहीं करते हैं तो उनके द्वारा दिए जाने वाली सुविधाओं का इस्तेमाल हम नहीं कर सकते ।

लेकिन KYC का मतलब क्या होता है और KYC Term क्या होता है । इसके बारे में लोगों को नहीं पता है तो मैं आज आपको यही बताऊंगा कि KYC Full Form क्या है, KYC क्या होता है और KYC की प्रक्रिया क्या है । 

KYC full form in Hindi

KYC full form in Hindi - KYC को हिंदी में क्या कहा जाता है?

KYC full form क्या है या फिर KYC को हिंदी में क्या कहते हैं । KYC का फुल फॉर्म "KNOW YOUR CUSTOMER" होता है जिसको हिंदी में अपने ग्राहक को पहचानना कहा जाता है या फिर ग्राहक की पहचान कही जा सकती है । KYC भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी की गई एक Identity Verification Process होता है । जिसके द्वारा किसी व्यक्ति की व्यक्तिगत पहचान की जाती है ।

KYC का एक और अर्थ भी होता है जिस को "KNOW YOUR CLIENT" भी कहा जाता है । इन दोनों में सिर्फ शब्दों का अंतर है लेकिन दोनों का अर्थ एक ही है । KNOW YOUR CUSTOMER और KNOW YOUR CLIENT का मतलब अपने ग्राहकों की पहचाना होती है ।

KYC क्या होता है ? ( What is KYC )

KYC एक ग्राहक की Data Capitalization Process होता है । जहां पर सभी ग्राहकों का नाम, पता, जन्म तिथि और बहुत से व्यक्तिगत जानकारी ली जाती है । जैसे कि हम बैंक में जब अकाउंट खुलवाने जाते हैं, तो वहां पर हमें KYC form दिया जाता है जिसको भरने के लिए कहा जाता है । जिसके अंदर हमारी सारी जानकारी होती है । 

बैंक में हमें अकाउंट खुलवाने के लिए एक बार KYC कराना होता है । वैसे हमें किसी भी app या किसी भी बैंक में एक ही बार केवाईसी कराना पड़ता है । लेकिन किसी कारण अगर हमारा अकाउंट बंद हो जाता है तो उसको reopen करवाने के लिए भी हमें KYC form सबमिट करना पड़ता है ।

KYC की प्रक्रिया भारत सरकार द्वारा 2002 में शुरू की गई थी और 2004 में यह घोषणा की गई थी कि सभी बैंकों को ग्राहक से इस प्रक्रिया को पूरा करना होगा । KYC को जमा कराने का मतलब है कि हमने बैंक को अपना व्यक्तिगत पहचान पत्र दे दिया है । 

KYC कितने प्रकार की होती है ( How many types of KYC )

KYC दो प्रकार के होते है । एक होता है Online KYC और दूसरा Offline KYC । मान लीजिए आपको अपने बैंक अकाउंट का KYC कराना है तो आप इसको दो प्रकार से कर सकते हैं । एक Online माध्यम से और दूसरा Offline माध्यम से । Online माध्यम में आप घर बैठे ही अपना KYC कर सकते हैं और Offline माध्यम से आपको KYC कराने के लिए बैंक में जाकर सबमिट करना होता है । 

अब मैं आपको बताऊंगा कि हम Online और Offline KYC कैसे कर सकते है । इसके बारे में मैं आपको सारा प्रोसेस बता दूंगा, जिसकी मदद से आप Online और Offline दोनों ही माध्यम से KYC करा सकते है । 

Online KYC कैसे जमा करें ( How to update KYC detail online in Hindi )

मैंने आपको ऊपर बता दिया है कि आजकल Verification के लिए KYC का इस्तेमाल किया जाता है । आप घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से अपना KYC करा के अपना Bank Account खोल सकते है, Online Loan Apply कर सकते है या फिर Insurance खुलवा सकते है । आप हो अपनी KYC कराने के लिए आपके पास INTERNATIONAL ID PROOF या फिर ADDRESS PROOF का होना जरूरी है । 

आजकल KYC के लिए सबसे ज्यादा आधार कार्ड और उसके बाद पैन कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है । आधार कार्ड KYC के दो माध्यम है । एक आधार base OTP और दूसरा Biometric । आधार base OTP में जब आप अपना आधार संख्या कहीं पर भरते हैं तो आप के आधार कार्ड के साथ लिंक नंबर पर एक sms जाता है । जिस पर 6 डिजिट का OTP पिन होता है । जिसको One Time Password भी कहा जाता है । इसका इस्तेमाल केवल एक ही बार किया जाता है ।

लेकिन अगर हम दूसरे प्रोसेस के बात करें तो इसमें हमें Biometric के द्वारा KYC कराना होता है । इसके अंदर भी हमें अपना आधार कार्ड संख्या भरना होता है और उसके बाद ग्राहक के हाथ की किसी भी उंगली को Biometric मशीन के ऊपर रखा जाता है ताकि ग्राहक के उंगल को scan किया जा सके । जिसकी मदद से बैंक के पास या फिर जिस कंपनी में हम KYC करा रहे है, उसके पास हमारा डाटा चला जाता है । 

Offline KYC कैसे जमा करें ? ( How to update KYC detail Offline in Hindi )

Offline KYC जमा कराने के लिए, ग्राहक के पास KYC Form का होना बहुत ही जरूरी है । इसके फॉर्म के अंदर ग्राहक की सारी जानकारी भरी होनी चाहिए । जो कि उसके आधार कार्ड पर लिखी हुई हो या फिर जो भी वह नेशनल एडिफिकेशन प्रूफ यूज करता है । उसकी डिटेल भरी जाती है ताकि ग्राहक का सारा डाटा उनके पास स्टोर हो सके । Offline KYC 7 दिन के अंदर पूरी हो जाती है । Offline KYC जमा करने के लिए नीचे दिए गए सारे Document और proof होने चाहिए । 

  • KYC Form ऑनलाइन प्रिंट निकल ले
  • आधार कार्ड की जानकारी भरे
  • पैन कार्ड की जानकारी भरे 
  • अपना मोबाइल नम्बर भरे
  • अपना ईमेल भरे
  • सभी आवश्यक दस्तावेज की प्रिंट केवाईसी फॉर्म में जमा करें

KYC के लिए कुछ जरूरी दस्तावेज ( Documents required for KYC ) 

Online और Offline KYC करने के लिए हमारे पास कुछ आवश्यक दस्तावेज होना बहुत ही जरूरी है । हम इन दस्तावेजों के बिना अपनी KYC को पूरा नहीं कर सकते । कृपया ध्यान रखें जब भी आप KYC करें तो इन दस्तावेजों को अपने पास ही रखें । जैसे :-

  • PASSPORT SIZE रंगीन फोटो
  • Identity Verification जैसे आधार कार्ड / वोटर कार्ड
  • Address Proof आधार कार्ड / राशन कार्ड / पासपोर्ट
  • Birth Certificate जन्म प्रमाण पत्र 
  • पैन कार्ड 
  • मोबाइल नम्बर
  • अकाउंट नम्बर
  • ईमेल आईडी

यह दस्तावेज आपको Online और Offline दोनों ही KYC कराने में मदद करेगी ।

इन दोनों ही तरीकों में से सबसे बेहतर तरीका Online KYC का है । क्योंकि हम घर बैठे-बैठे आसानी से KYC करा सकते है । जबकि Offline KYC में हमें बैंक के चक्कर लगाने पड़ते हैं

KYC से जुड़े कुछ नए सवाल - जवाब

eKYC क्या होता है ? eKYC का full form क्या है?

eKYC का full form "Electronic Know Your Customer" होता है । full KYC की तुलना में eKYC बहुत ही सरल और आसान है । यह परिक्रिया कुछ ही मिनटों में पूरी हो जाती है । इस परिक्रियां को पूरा करने के लिए आपके पास आपका आधार कार्ड, पैन कार्ड और अकाउंट नंबर होना चाहिए । जिसकी मदद से आप KYC कर सकते है । 

CKYC क्या होता है? CKYC का फुल फॉर्म क्या है?

CKYC का फुल फॉर्म Central KYC होता है । जिसका अर्थ है Central Know Your CustomerCKYC सरकार द्वारा जारी की गई सुविधा है । CKYC इसलिए करवाई जाती हैं की हमारी डिटेल सरकार के डाटा में पड़ी रहे । 

KYC फार्म क्यों भरे जाते है?

KYC फार्म भरवाने का मुख्य उद्देश किसी व्यक्ति का पहचान करना होता है । KYC इसलिए करवाई जाती है कि कोई व्यक्ति किसी सुविधा का गलत इस्तेमाल न कर सके । जैसे की एक ही व्यक्ति के नाम पर एक से ज्यादा अकाउंट ना हो । क्योंकि यह illegal होता है ।

KYC status कैसे चेक करे?

जब हम अपना KYC करते है तो उसको update होने में कुछ समय लगता है । यह प्रिक्रिया पूरी हुई है या नही, इसको हम KYC status में देख सकते है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी बैंक कर्मचारी द्वारा update कर दी गई है या नही ।

Conclusion 

आज मैने आपको KYC full form और साथ में KYC के किस्मों के बारे में भी बताया है । उम्मीद करता हु आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी । अगर आप ऐसी ही और जानकारी हासिल करना चाहते है तो हमारी वेबसाइट को visite करते रहे ताकि हम आपको नए - नए जानकारी देते रहे । 

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Thanks for your comment

Thanks for your comment

Post a Comment (0)
Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !